Corona

It took nature

One virus
To defeat
The might of the human race.

One virus
To show
The vulnerability of the human ​race.

One virus
To realise
The helplessness of the human ​race.

Warrior

There is a warrior within all of us
For some, the warrior chooses to fight
For some, the warrior chooses defeat.

A drop of tear

A drop of tear
Can be shed out of sadness
Can be shed out of happiness
How unfair
To have the same reaction
For both sadness and happiness

Frozen Heart

I witnessed a miracle today
The power of love
Failed to melt a frozen heart
Sometimes it is the circumstances
Sometimes it is the person

Imagine

Imagine

Living a lie

And then starting to assume it to be real.

Imagine

Most of us doing it.

And imagine

A few truths we know

Are just works of imagination.

तस्वीर

कभी दादा दादी या नाना नानी की याद आती है
तो मैं पुरे तस्वीर देखकर मन बेहला लेती हूँ
पर अब तसवीरें भी धुंधली हो चली हैं
कितना अच्छा होता
अगर उनके ज़माने में भी तसवीरें लेना आम सी बात होती
फिर तो मेरे पास उनकी यादों का पिटारा होता
कुछ गिने चुने नहीं, अनेको यादें होती

तुम कभी आवाज़ लगा कर देखो

तुम कभी आवाज़ लगा कर देखो
मैं दौड़ी चली आऊँगी
थोड़ा आपने आस पास के लोगों के आगे देखो
मैं वही खड़ी हूँ
पर तुमको दिख नहीं रही हूँ
तुम कभी आवाज़ लगा कर देखो
मैं दौड़ी चली आऊँगी

बचपन के दोस्त

आज सालों बाद
समय मिला है
अपना मान टटोल कर ढूंढ रही हूँ
बचपन के दोस्तों को
जिनके साथ मैं खेला करती थी
कुछ के नाम याद है
कुछ के चेहरे याद है
और बस कुछ यादें याद है
वही दिन थे भोलेपन और मासूमियत के
अब तो पता नहीं
मैं किसी को याद हूँ भी या नहीं
तो वैसी दोस्ती ना कायम रह पायेगी
क्योंकि अब वो भोलेपन और मासूमियत के दिन
कभी वापस ना आ पाएंगे.

The days of our lives

The days of darkness
Makes me realise
The value of the days of brightness

Equal are all the days
Some are bright
Some are not
But they all add up and make our life whole

Blog at WordPress.com.

Up ↑